Wednesday 21st April 2021

चाचा नेहरू

चाचा नेहरू

*सुरेश शर्मा*

लाखो बच्चों की दिल की धड़कन ,
चीर परिचित थे चाचा नेहरू हमारे ।
टोपी उनके सर पे शोभता और ,
गुलाब उनके कोट पर चमकता ।
बहुत ही शौकीन थे हमारे चाचा नेहरू

भारत के चाचाजी सदा थे यही कहते,
बच्चों देश के जीवन हो आप ;
तिमिर को हरना काम है आपका ।
भविष्य उज्जवल बनाओ अपना ,
तो होगा ऊॅचा एकदिन नाम आपका।

लाल गुलाबी नीले पीले सभो फूलों मे ,
हृदय की तरह धे वो बसते ।
बगिया मे जब-जब थे फूल खिलते ,
लगता था तब-तब चाचाजी हंसते।

हंसते गाते सदा मुस्कुराते रहना ,
फूलों से मांगते थे वो जीवन वैसे।
हो हमारा वैसा हीं जीवन,
फूलों -सा सदा मुस्कुराहट बिखेरते ।

सुख -दःख दोनो मे एक हीं जैसे,
मन्द – मन्द मुस्कान मे खेलते ।
प्रकृति से हम मांगे वैसा ही जीवन ,
जैसे फूल और कली हंसी बिखेरते ।

*सुरेश शर्मा
नूनमाटी, गुवाहाटी( आसाम )

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
CATEGORIES

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (1 )