Wednesday 21st April 2021

मकर राशि पर सूर्य जब, आ जाते है आज

मकर राशि पर सूर्य जब, आ जाते है आज

दोहे*रमेश शर्मा

मकर राशि पर सूर्य जब, आ जाते है आज !
उत्तरायणी पर्व का,हो जाता आगाज !!

घर्र-घर्र फिरकी फिरी,उड़ने लगी पतंग !
कनकौओं की छिड़ गई,आसमान मे जंग !!

कनकौओं की आपने,ऐसी भरी उड़ान !
आसमान मे हो गये ,पंछी लहू लुहान !!

अनुशासित हो कर लडें,लडनी हो जो जंग !
कहे डोर से आज फिर, उडती हुई पतंग !!

भारत देश विशाल है,अलग-अलग हैं प्रांत !
तभी मनें पोंगल कहीं, कहीं मकर संक्रांत !!

उनका मेरा साथ है,जैसे डोर पतंग !
जीवन के आकाश मे,उडें हमेशा संग !!

त्योहारों में घुस गई, यहांँ कदाचित भ्राँति !
मनें एक ही रोज अब,नही मकर संक्राँति !!

जीवन में मिल कर रहो, सबसे सदा “रमेश” !
देता है संक्रांति का, पर्व यही सन्देश !!

तिल गुड़ की के लडडू मिलें, खाने को हर बार !
आता है संक्राँति का,जब पावन त्यौहार !!

तिल-गुड़ गज्जक रेवड़ी,सर्दी के पकवान !
खाएं जिनको स्वाद ले , हर कोई इंसान !!

लेवें सब संक्रांति पर, आज यही संज्ञान !
तिल के लाडू से बड़ा, नहीं दूसरा दान !!

पोंगल खिचड़ी लोहड़ी,तीनो ही त्यौहार !
आते हैं संक्रांति के ,साथ साथ हर बार !!

*रमेश शर्मा, मुम्बई

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
CATEGORIES

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )