Tuesday 18th May 2021

महात्मा : सरहदें पार करते हुए  अंतर राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न

महात्मा : सरहदें पार करते हुए  अंतर राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न

शाश्वत सृजन समाचार

केरल राज्य के एम्.इ.एस कल्लडी कोलेज के भाषा विभागों ने महात्मा : सरहदें पार करते हुए  विषय पर द्विदिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया |संगोष्ठी का उद्घाटन एम्.इ.एस केरला के अध्यक्ष एवं चिंतक  डॉ.पी ए फसल गफूर ने किया | गांधीजी के जीवानोपरांत के भारत और विश्व पर मुल्यांकन करते हुए अपने उद्घाटन भाषण में गांधीजी और उनके दर्शन के विरोध में उठनेवाले स्वरों को रेखांकित किया | उन्होंने आगे कहा गांधीजी के समकालीन अनेक नेता गण उनसे मतभेद रखते थे और आज विश्व में कई बुद्धि जीवी गांधीजी को भ्रष्ट कर रहे है|किन्तु भारतीय धर्म और संस्कृति पर अटल रहनेवाले गाधी जी के विचार और दर्शन आज भी सामयिक है और आनेवाले पीढ़ियों को भी सामयिक रहेगा भी । अरबा मिंच विश्व विद्यालय ,इथोपिया  से पधारे डॉ.गोपाल शर्मा जी ने अपने बीज  भाषण में गांधीजी के दक्षिण आफ्रिका प्रवास का रोचक प्रस्तुतीकरण किया और बताया कि महात्मा गांधी का महात्मा बननें तक का जीवन अहिंसा और उसके प्रयोगों का आख्यान है | दक्षिण आफ्रिका प्रवास गांधीजी ने अपने आप को स्वतंत्र भारत के लिए तैयार करने का प्रयोगशाला के रूप में इस्तमाल किया था |महात्मा गांधी की लोकप्रियता पर नासमझ लोग बेकार ही शंका कर रहे है| खुला किताब सा गाँधी का जीवन पूरे विश्व को  काम में आएगा इसमें दो  राय नहीं|
हिंदी विभाग के अध्यक्ष डॉ रंजित एम् ने अपने स्वागत भाषण में समकालीन समाज में गांधीजी के चिंतन की आवश्यकता पर प्रकाश डाला| पोंडिचेरी केन्द्रीय विश्व विद्यालय के हिंदी विभाग के अध्यक्ष डॉ.सी जयशंकर बाबु,  एम्.इ.एस कल्लटी कॉलेज प्रबन्धन समिति के सचिव जनाब पी .यु मुजीब,चेयरमान के.सी.के.सैद अली , प्राचार्य टी.के जलील, एम्.इ.एस पालक्काट  जिला अध्यक्ष जब्बार अली, शाजिद वलांचेरी,श्रीमती ए रमला आदि भी शामिल थे | गांधीजी से संबंधित विभिन्न विषयों पर अरबी,अंग्रेजी,हिंदी,मलयालम,उर्दू विषयों पर विभिन्न सत्र सम्पन्न हुए| गांधीजी के फिल्मों का प्रदर्शन,विभिन्न प्रतियोगिताएँ,पुस्तकालय में गाँधी कोर्नर की स्थापना आदि भी किया गया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
CATEGORIES

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (1 )