Tuesday 18th May 2021

कथनी और करनी

लघुकथा*सुरेश सौरभ




आप अपनी सुविधा के लिए उस युवक का नाम कुछ भी रख लीजिए ,जिसका काम अक्सर अपने स्टाइलिश वीडियो टिक-टाक पर अपलोड करना था। उसने एक दिन अपना एक वीडियो अपलोड किया, जिसमें वह अपने मुंह पर बंधे रूमाल को फेंक कर अदा से कहता है- जिसका खुदा रखवाला है, उसका कोरोना क्या बिगाड़ पायेगा।
कुछ दिन बाद वही टिकटाकी महराज कोरोना पोजिटिव हो गये। अब वह अस्पताल में आंसू बहाते हुए, तमाम चैनलों से कह रहे थे-हलो ! व्यूअर मेरे लिए आप लोग खुदा से दुआ करना कि मैं जल्दी ठीक हो जाऊं, मैंने अपने मुंह पर बंधे रूमाल को फेंक कर जो गलती की, वो आप कभी न करना। आप किसी कपड़े या मास्क से अपना मुंह हमेशा ढंके रहना यही मेरी इल्तिजा है। खुदा कोरोना से सब को महफूज रखे यही मेरी खुदा से दुआ है।

*सुरेश सौरभ
निर्मल नगर लखीमपुर खीरी



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )